दीप अपना जलाए रखना

दीप अपना जलाए रखना ,
विश्वास अपना बनाए रखना ,
भटकें हुए को राह दिखाने का,
कर्तव्य अपना निर्वाह करते रहना,
दीप अपना जलाए रखना ।

संस्कृति, आस्था, मूल्यों, व आदर्शों को ,
मिट्टी के साँचे में सजाये रखना ,
अंधकार गहन है ,
चमचमाती तेज रंगीन रोशनियों,
आधुनिकता की चकाचौंध के अँधियारे में ,
खोये हँसेगे तुम पे,
विपरीत हवा बुझाने की कोशिश पुरजोर करेंगी ,
तुम अंगद से पैर जमाये रखना ,
कीट-पतंग की तरह कुछ ग्रास बन,
रंगीन रोशनियों में लुप्त हो जायेगें ,
चकाचौंध चुभने लगेगी जब त्रास बन,
लोट कर कुछ वापस आना चाहेंगे,
शांति व प्रसन्नता पाने ,
राह भटको को रोशनी दिखलाते रहना,
देख तुम्हें संकुचित मंदिम दीप ,
विश्वास से भर जगमगा जायेंगे,
दूर होगा गहन अंधकार ,
संस्कृति, आस्था, मूल्यों व आदर्शों के दीपों से,
रोशन होगी धरा ,

दीप अपना जलाए रखना,
विश्वास अपना बनाए रखना
भटकें हुए को राह दिखाने का
कर्तव्य अपना निर्वाह करते रहना ,
दीप अपना जलाए रखना ।

                                  ✍अनिता शर्मा

26 विचार “दीप अपना जलाए रखना&rdquo पर;

    1. सादर अभिवादन 🙏🏼
      प्रोत्साहन देने के लिए आपका आभार 🙏🏼
      आदरणीय आप भी एक ज्ञानरूपी दीप की भाँति अपनी लेखन कला से हम सभी के मार्गदर्शक हैं ।

      Liked by 2 लोग

  1. बहुत ही सुंदर कविता लिखी है आपने अनिता जी |

    दीप अपना जलाए रखना ,
    विश्वास अपना बनाए रखना ,
    भटकें हुए को राह दिखाने का,
    कर्तव्य अपना निर्वाह करते रहना,
    दीप अपना जलाए रखना ।

    इन शब्दों में जो दीप जलाये रखने की बात की गई है वह हमारे जीवन का महत्त्वपूर्ण लक्ष्य है । जब हम स्वंय प्रकाशमान होएंगे औरभरोसा बनाएँ रखेंगे तभी हम अपने कर्तव्यों का सही तरीके से निर्वहन कर पाएगे । यूँही लिखती रहिए । बहुत -बहुत धन्यवाद ।

    Liked by 3 लोग

    1. बिल्कुल सत्य कहा है 👌🏼👌🏼
      आप भी एक दीप की भाँति,
      अपनी लेखन कला से,
      लोगों को
      अपनी मिट्टी, अपनी संस्कृति की
      जड़ो से जोड़ कर रखनें का प्रयास
      ऐसे ही करते रहें ।
      प्रशंसा के लिए आपका बहुत- बहुत आभार 🙏🏼

      Liked by 2 लोग

    1. आशीष भाई प्रशंसा के लिए आपका बहुत आभार 🙏🏼आप अपनी लेखनी से ज्ञानरूपी दीप के प्रकाश से हमारी संस्कृति, आदर्शों व मूल्यों को यूँ ही प्रकाशित करते रहें ताकि हमारी
      सांस्कृतिक पहचान , हमारे बच्चों व आने वाली पीढ़ियों का भविष्य सुरक्षित व सुंदर रहे 😊

      Liked by 2 लोग

  2. bahut hi khubsurat rachna. laajwab kahenge hum.
    दीप अपना जलाए रखना ,
    विश्वास अपना बनाए रखना ,
    भटकें हुए को राह दिखाने का,
    कर्तव्य अपना निर्वाह करते रहना,
    दीप अपना जलाए रखना ।

    अपने घर को रौशन तो करते सभी,
    औरों के घर से तम दूर भगाते रहना,
    हाँ अपने सत्कर्मों का दीपक जलाये रखना|

    Liked by 2 लोग

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s